‘आपदा के वक्त कहां गायब थे सुरेश कश्यप?’ CM सुक्खू ने बीजेपी सांसद पर खड़े किए सवाल

0

Himachal Pradesh: सांसद सुरेश कश्यप ने की भाजपा अध्यक्ष पद से इस्तीफे की  पेशकश, जेपी नड्डा से की थी मुलाकात - Himachal Pradesh MP Kashyap offered to  resign from the post of

नई दिल्‍ली । हिमाचल प्रदेश में सातवें और आखिरी चरण में लोकसभा के चुनाव हैं। शुक्रवार को मंडी संसदीय क्षेत्र की अहम बैठक के बाद कांग्रेस ने शिमला संसदीय क्षेत्र के लिए अहम बैठक बुलाई है।

यह बैठक शिमला स्थित राजीव भवन में हो रही है। बैठक में शिमला संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी का पहुंचने पर जोरदार स्वागत हुआ। बैठक में हिमाचल कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने खास तौर पर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू को भी आमंत्रित किया।

मुख्यमंत्री के अलावा शिमला संसदीय क्षेत्र से संबंध रखने वाले अन्य मंत्री भी बैठक में शामिल हैं। बैठक में शिमला संसदीय क्षेत्र में जीत के लिए रणनीति तैयार की जा रही है। साल 2009 से लेकर लगातार इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी की ही जीत हो रही है।

CM सुक्खू का बीजेपी सांसदों पर निशाना

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि हिमाचल कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह ने शिमला संसदीय क्षेत्र के लिए अहम बैठक बुलाई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार अपने 15 महीने के काम को लेकर जनता के बीच में जाएगी। उन्होंने कहा कि आपदा के वक्त राज्य सरकार ने बिना केंद्र सरकार की मदद के बेहतरीन काम किया।

जब प्रदेश में आपदा आई, तब भारतीय जनता पार्टी के सांसदों ने दिल्ली में हिमाचल प्रदेश की आवाज नहीं उठाई। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा में भी जब हिमाचल में आई आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने का संकल्प आया, तब भाजपा विधायकों ने इसका समर्थन नहीं किया।

सीएम सुक्खू ने कहा कि सभी भाजपा सांसदों और विशेष तौर पर शिमला के सांसद सुरेश कश्यप को यह जवाब देना चाहिए कि उन्होंने हिमाचल में आई आपदा के वक्त वे वहां कहां छिप गए थे। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष भी आपदा के वक्त छिपे रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल में आई आपदा से राज्य सरकार ने अपने संसाधनों के बलबूते पर लोगों की समस्या का निपटारा किया।

बीजेपी नेताओं ने हिमाचल की मदद रुकवाई- CM

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि बीजेपी ने सिर्फ और सिर्फ हिमाचल प्रदेश की मदद रुकाने का काम किया। उन्होंने कहा कि पहले तो आपदा के दौरान केंद्र सरकार से हिमाचल की सहायता रोकी गई। इसके अलावा ओल्ड पेंशन स्कीम को भी भाजपा ने रोकने की कोशिश की।

उन्होंने कहा कि महिलाओं को हर महीने इंदिरा गांधी प्यारी बहना सुख सम्मान योजना के तहत 1 हजार 500 रुपए की सम्मान निधि की शुरुआत हुई, तब भी राज्य निर्वाचन आयोग पहुंचकर भाजपा ने से रोकने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने महिलाओं को फॉर्म भरने की अनुमति दी है।

मुद्दों के आधार पर लड़ेंगे चुनाव- सुल्तानपुरी

शिमला संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी ने कहा कि वे मुद्दों के आधार पर चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि पांच साल में शिमला के सांसद सुरेश कश्यप कहीं नजर नहीं आए। हिमाचल प्रदेश में जब आपदाई तब भी सुरेश कश्यप नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस मुद्दों के आधार पर इस चुनाव को लड़ेगी।

उन्होंने कहा कि उन्होंने विधानसभा में बतौर विधायक भी इलाके के मुद्दे उठाए हैं और आगे भी वे यही काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरे दमखम के साथ चुनाव लड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *