छत्तीसगढ़ में वार्डन को बंधक बनाकर बाल सुधार गृह से भागी नाबालिग लड़कियां, नागपुर में पकड़ाईं

0

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बाल सुधार गृह राजनांदगांव की महिला वार्डन और पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर फरार हुई खूंखार नाबालिग लड़कियां नागपुर में पकड़ी गई। नागपुर ट्रैफिक ब्रांच की महिला कर्मियों की सतर्कता से तीनों लड़कियों को पकड़ लिया। 17 वर्षीय तीनों नाबालिग छत्तीसगढ़ की निवासी हैं। एक ने अपने भाई की हत्या की है। दूसरे ने बॉयफ्रेंड की मदद से हत्या को अंजाम दिया है, जबकि तीसरी पर लूटपाट का मामला दर्ज है। तीनों को छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव के महिला बाल सुधार गृह में रखा गया था। आयु कम होने के कारण अदालत के निर्देश पर उन्हें महिला सुधार गृह में रखा गया था।

तीनों नाबालिग लड़कियां काफी खूंखार प्रवृत्ति की हैं और उन्होंने सुधार गृह से भागने की भी एक खतरनाक योजना बनाई। उन्होंने शोर मचाना शुरू किया कि वार्डन के कमरे में आग लग गई है। वह जोर-जोर से वहां चिल्लाने लगी। महिला वार्डन और महिला पुलिसकर्मी को कमरे में पहुंचते ही उन्होंने बाहर से कमरे को बंद कर दिया, उन्हें वहां पर बंधक बना दिया। वहां पर रखा मोबाइल, नकद पैसे और उनकी एक्टिवा लेकर तीनों नागपुर की तरफ फरार हो गईं। पेशेवर अपराधी होने से उन्होंने एक्टिवा का नंबर प्लेट भी निकाल दी।

नागपुर में ट्रैफिक ब्रांच की हवलदार वैशाली दुरुगकर एवं पूजा पुरी की नजर इन लड़कियों की गाड़ी पर गई। उन्होंने बिना नंबर की गाड़ी एवं ट्रिपल सीट होने की वजह से इन्हें रोका। तीनों के गोलमाल जवाब देने से ट्रैफिक महिला पुलिसकर्मियों को उन पर शक हुआ। तीनों लड़कियां ट्रैफिक पुलिस से बचने के लिए उन्हें 5000 घूस देने की भी पेशकश की। उन्हें थाने लाकर सख्ती से पूछताछ की गई, तब पता लगा कि ये तीनों छत्तीसगढ़ से इस घटना को अंजाम देकर नागपुर भागी हुई है। घटना की जानकारी तत्काल राजनांदगांव पुलिस को दी गई। राजनांदगांव की पुलिस नागपुर पहुंचकर इन्हें अपने साथ आगे की तहकीकात के लिए राजनंदगांव लेकर गई है।

नागपुर की ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने बताया कि उन्होंने यह दलील दी कि घर पर झगड़ा हो गया है, इसलिए वह तीनों घर से निकली हुई हैं। पहले लड़कियों ने इनकार किया कि उनके पास मोबाइल नहीं है। जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तो उन्होंने छोटा सा मोबाइल दिया। उस मोबाइल पर बात करने के बाद मामला उलझता गया और इन तीनों लड़कियों को थाने लाया गया एवं आगे की कार्रवाई की गई। पुलिसकर्मियों ने बताया कि यह काफी शातिर अपराधी हैं। जिस तरीके से उन्होंने वार्डन को बंधक बनाया वह काफी आपराधिक प्रवृत्ति को दर्शा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *