स्वाति मालीवाल भ्रष्टाचार के मामले का सामना कर रही, उन्‍हें भाजपा द्वारा ब्लैकमेल किया जा रहा: आतिशी

0

नई दिल्ली। स्‍वाती मालीवाल और सींए अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार के विवाद मामले में एक बार फि‍र आप की मंत्री आतिशी ने भाजपा पर आरोपों की झड़ी लगाई है। आप नेता आतिशी ने शनिवार को दावा किया कि पार्टी सांसद स्वाति मालीवाल जिन्होंने अरविंद केजरीवाल के सहयोगी बिभव कुमार पर हमला करने का आरोप लगाया है, अवैध भर्ती मामले में आरोपों का सामना कर रही हैं और उन्हें मुख्यमंत्री के खिलाफ षड्यंत्र का हिस्सा बनने के लिए भाजपा द्वारा ब्लैकमेल किया गया । कुमार द्वारा मालीवाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराए 24 घंटे हो चुके हैं और पुलिस ने अब तक एफआईआर दर्ज नहीं की है। दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री आतिशी ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस भाजपा का हथियार है और राष्ट्रीय राजधानी में लोकसभा चुनाव से पहले केजरीवाल को निशाना बना रही है। बदले में दिल्ली भाजपा ने आप नेताओं पर मालीवाल की छवि खराब करने के लिए संपादित वीडियो प्रसारित करने का आरोप लगाया। आतिशी ने आरोप लगाया कि स्वाति मालीवाल सोमवार को बिना किसी पूर्व सूचना के मुख्यमंत्री आवास पर गईं थीं।

आतिशी ने सवाल उठाया, वह जबरन अंदर क्यों आईं? वह बिना अपॉइंटमेंट के मुख्यमंत्री के आवास पर क्यों पहुंचीं? अरविंद केजरीवाल उस दिन व्यस्त थे और उनसे नहीं मिले। अगर वह उस दिन उनसे मिले होते, तो बिभव कुमार के खिलाफ लगाए गए आरोप उन पर भी लगाए जा सकते थे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने मालीवाल को इस षड्यंत्र का चेहरा बनाया है। भाजपा का एक पैटर्न है। पहले वे मामले दर्ज करते हैं और फिर नेताओं को जेल भेजने की धमकी देते हैं। स्वाति मालीवाल भ्रष्टाचार निरोधक शाखा द्वारा दर्ज अवैध भर्ती मामले में आरोपों का सामना कर रही हैं। मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है और यह उस चरण में है जहां उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है।

आप नेता ने आरोप लगाया, भाजपा ने मालीवाल को ब्लैकमेल किया और उन्हें इस साजिश का चेहरा बनाया। मालीवाल ने आरोप लगाया है कि कुमार ने सोमवार को केजरीवाल के सरकारी आवास पर उनके साथ मारपीट की, उन्हें थप्पड़ मारे तथा छाती और पेट पर लात मारी, हालांकि आप ने इन आरोपों को निराधार बताकर खारिज कर दिया है। दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को कथित हमले के संबंध में प्राथमिकी दर्ज की और शनिवार को कुमार को केजरीवाल के आवास से गिरफ्तार कर लिया। आतिशी ने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस निष्पक्ष है तो उसे कुमार की शिकायत पर भी मालीवाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करनी चाहिए।

उन्होंने पूछा, क्या दिल्ली पुलिस उनके खिलाफ़ अतिक्रमण, सुरक्षा भंग करने और सरकारी कर्मचारी को उनके कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने का मामला दर्ज करेगी? अगर दिल्ली पुलिस निष्पक्ष है, तो उसे बिभव की शिकायत पर एफआईआर दर्ज करनी चाहिए। क्या वह उनकी शिकायत पर उसी तरह कार्रवाई करेगी, जैसे उसने मालीवाल की शिकायत पर की थी? उन्होंने कहा, उनके कॉल रिकॉर्ड की जांच की जानी चाहिए और विश्लेषण किया जाना चाहिए कि वह किन भाजपा नेताओं के संपर्क में थीं।

इस बीच घटना के दिन का मालीवाल का एक और कथित वीडियो ऑनलाइन सामने आया। वीडियो में एक महिला सुरक्षाकर्मी मालीवाल को हाथ से पकड़कर केजरीवाल के आवास से बाहर ले जाती हुई दिखाई दे रही है। मुख्य द्वार से बाहर निकलते समय मालीवाल अपना हाथ सुरक्षाकर्मी की पकड़ से छुड़ा लेती हैं। मुख्यमंत्री आवास का पहला वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया पर सामने आया, जिसमें स्वाति मालीवाल सुरक्षाकर्मियों से बहस करती नजर आ रही हैं। बाद में, आतिशी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दूसरे वीडियो से पता चलता है कि मालीवाल द्वारा लगाए गए आरोप झूठे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed