मोदी सरकार 3.0 का शपथ ग्रहण आज रविवार को, भाजपा रख सकती है सभी अहम पद

0

नई दिल्ली। भाजपा में छनकर आ रही खबरों पर भरोसा करें तो सारे अहम पद भाजपा के पास ही रहने के आसार हैं। साथ ही नितिन गडकरी को अपने पुराने पद पर ही रखा जा सकता है। हालांकि सही स्थिति शपथ ग्रहण के बाद होने वाले विभाग बंटवारों में ही साफ हो सकेगी। फिलहाल इसे अभी कयास ही माना जा सकता है। एन चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी और नीतीश कुमार की जेडीयू को नरेंद्र मोदी सरकार में एक कैबिनेट पद और एक राज्य मंत्री का पद मिलने की संभावना है, क्योंकि एनडीए नेता इस बात पर मंथन कर रहे हैं कि मोदी 3.0 टीम कैसी होगी। मोदी सरकार 3.0 का शपथ ग्रहण आज रविवार को है।

 

प्रधानमंत्री आवास पर शनिवार को 11 घंटे तक चली मैराथन बैठक के बाद नए मंत्रिमंडल पर निर्णय लिए गए। बैठक में अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष मौजूद थे। निवर्तमान गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सड़क एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के अपने विभाग बरकरार रहने की संभावना है। बताया जा रहा है कि निर्मला सीतारमण और डॉ. एस जयशंकर, जो दोनों राज्यसभा सांसद हैं, के भी अपने विभाग बरकरार रहने की संभावना है।

 

अन्य सहयोगी दलों में एलजेपी (रामविलास) के चिराग पासवान, जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी, अपना दल (सोनेलाल) की अनुप्रिया पटेल, आरएलडी के जयंत चौधरी और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के जीतन राम मांझी को मंत्री पद मिलने की संभावना है। एकनाथ शिंदे की शिवसेना का प्रतिनिधित्व बुलढाणा के सांसद प्रतापराव जाधव कर सकते हैं। राज्यसभा सांसद और बीजेपी की लंबे समय से सहयोगी रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के प्रमुख रामदास अठावले का भी मंत्री बनना तय है।

 

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और मध्य प्रदेश के नेता शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी मंत्री पद मिल सकता है। पूर्वोत्तर से भाजपा के नेता सर्बानंद सोनोवाल और किरेन रिजिजू मंत्री के रूप में वापस आ सकते हैं, साथ ही कुछ और नामों पर भी चर्चा हो रही है। चर्चा में चल रहे अन्य नामों में जी किशन रेड्डी, शोभा करंदलाजे, बीएल वर्मा, बंदी संजय कुमार और नित्यानंद राय शामिल हैं।

 

पूर्ण बहुमत के साथ दो कार्यकाल के बाद, भाजपा इस बार जादुई आंकड़े से चूक गई है, क्योंकि उसे 240 सीटें मिली हैं। इसने चंद्रबाबू नायडू और नीतीश कुमार को किंगमेकर की स्थिति में पहुंचा दिया है। दोनों ही गठबंधन के दौर के दिग्गज हैं और कठिन सौदेबाजी करने में माहिर हैं, भाजपा की सीटों की संख्या ने उनकी स्थिति को मजबूत किया है। हालांकि, भाजपा सूत्रों ने पहले एनडीटीवी को बताया था कि वे सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति में चार महत्वपूर्ण विभागों – गृह, रक्षा, वित्त और विदेश मामलों – को नहीं छोड़ेंगे। साथ ही, मोदी 1.0 और मोदी 2.0 में सड़क संपर्क के विस्तार को काफी सराहना मिली। और इसके पीछे के व्यक्ति, नितिन गडकरी, अपने पद पर बने रहने की संभावना है।

 

बताया जा रहा है कि 16 सीटें जीतने वाली टीडीपी और 12 सीटें जीतने वाली जेडीयू ने केंद्रीय भूमिका की मांग की है। प्रधानमंत्री मोदी की नई टीम की घोषणा से पता चलेगा कि ऐसा हुआ है या नहीं। जेडीयू की ओर से पूर्व पार्टी प्रमुख राजीव रंजन सिंह और राज्यसभा सांसद एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर के बेटे रामनाथ ठाकुर को मंत्री पद मिल सकता है। टीडीपी सांसद डॉ. चंद्रशेखर पेम्मासानी और राम मोहन नायडू किंजरापु को मोदी 3.0 में मंत्री पद मिलेगा, पार्टी नेता जय गल्ला ने एक्स पर घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed