स्वाति मालीवाल की एफआईआर में केजरीवाल के पीए पर आरोप, मेरी शर्ट ऊपर खींची, बटन खुले-मैं चीखती रही, वह पेट पर लात मारता रहा

0

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की राज्य सभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के आरोपों पर सीएम अरविंद केजरीवाल के पीए विभव पर एफआईआर दर्ज की गई है। इसके मुताबिक स्वाति, केजरीवाल से मिलने पहुंचीं तो उनकी जगह पीए विभव आए। उन्होंने बदसलूकी की, गालियां दीं और मारपीट की। एफआईआर में यह भी लिखा है कि विभव ने उनके सीने और पेट पर लात मारी, उनका सिर टेबल पर पटक दिया। स्वाति मालीवाल ने शुक्रवार को तीस हजारी कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज करा दिया है। इससे पहले गुरुवार रात करीब 11 बजे दिल्ली पुलिस आप सांसद स्वाति मालीवाल को लेकर एम्‍स पहुंची थी। जहां उनका मेडिकल करवाया गया। दिल्‍ली में शुक्रवार को सुबह से भाजपा महिला मोर्चा सीएम केजरीवाल के आवास के सामने प्रदर्शन करने पहुंच गया। इस सारे बवाल के बीच इस बीच अरविंद केजरीवाल पंजाब में अपने सभी प्रोग्राम और रैली रद्द कर वे दिल्ली वापसी के लिए रवाना हो गए हैं।

इधर, आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पर हुई कथित मारपीट के बाद अब उनका पहला वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में दिख रहा है कि घटना के 6 दिन बाद भी स्वाति ठीक से नहीं चल पा रही हैं। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो सीएम आवास का है। मारपीट के बाद स्वाति सोफे पर बैठी हैं। विभव बाहर निकले और दिल्ली पुलिस की तरफ से तैनात सिक्योरिटी पर्सनल को अंदर भेजा। विभव ने स्टाफ से कहा कि स्वाति मालीवाल को बाहर निकाला जाए। हालांकि किसी भी स्‍तर पर इस वीडियो की पुष्‍ट‍ि नहीं हुई है।


भाजपा महिला मोर्चा ने कहा, केजरीवाल चूड़ियां पहन लें

दिल्ली में मुख्यमंत्री आवास पर शुक्रवार को चूड़ियां लेकर पहुंचीं भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने स्वाति मालीवाल पिटाई प्रकरण में दिल्ली सरकार के ढुलमुल रवैये पर अपना गुस्सा जाहिर किया। कार्यकर्ताओं ने कहा, महिलाओं की अस्मिता को सुरक्षित रखने में असमर्थ केजरीवाल को मुख्यमंत्री को पद पर रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उन्हें अपने हाथों में चूड़ियां पहन लेनी चाहिए। कार्यकर्ताओं ने कहा, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्हें चूड़ियां पहनकर अपने घर बैठ जाना चाहिए, दिल्ली को हम देख लेंगे। हम यहां राजनीतिक विचारधाराओं से परे हटकर एक महिला होने के नाते स्वाति मालीवाल के प्रति अपनी एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए एकत्रित हुईं हैं। स्वाति खुद को अकेली ना समझें। हम सभी उनके साथ हैं।

 

अखिलेश यादव से क्‍या उम्‍मीद की जा सकती है

कार्यकर्ताओं ने कहा, केजरीवाल इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं और सपा प्रमुख अखिलेश यादव कहते हैं कि देश में और भी ज्यादा जरूरी मुद्दे हैं। बेटे से गलती हो जाती है, जैसे बयान देने वाले मुलायम सिंह यादव के बेटे से उम्मीद भी क्या की जा सकती है। प्रदर्शन में शामिल होने आई एक अन्य महिला ने सीएम केजरीवाल पर अपना रोष जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें शर्म आनी चाहिए कि उनके आवास पर एक महिला सांसद के साथ बदसलूकी हो जाती है और वो हाथ पर हाथ धरे बैठे रहते हैं।

इससे पहले गुरुवार रात को स्वाति मालीवाल का करीब तीन घंटे मेडिकल टेस्ट हुआ, जिसमे उनका एक्सरे और सिटी स्कैन किया गया। उनकी मेडिकल रिपोर्ट शुक्रवार को आएगी। एमएलसी में मालीवाल के चेहरे पर अंदरूनी चोट आई हैं। बता दें कि केजरीवाल के घर के बाहर ही 8 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। इन सबकी भी जांच की जाएगी। घटना वाले दिन 13 मई को स्वाति मालीवाल कितने बजे सीएम हाउस पहुंची। उन्हें सीएम हाउस के गेट पर कौन-कौन मिला। उन सभी के बयान दर्ज किए जाएंगे। स्वाति मालीवाल टैक्सी से सीएम हाउस पहुंची थी। पुलिस उस टैक्सी ड्राइवर का बयान भी दर्ज करेगी। मालीवाल को केजरीवाल के घर कौन कौन मिला, उन सबके बयान दर्ज किए जाएंगे। इसके अलावा विभव कहां हो सकता है। इसका भी पता किया जा रहा है। माना जा रहा है कि विभव अमृतसर में ह। पुलिस की तकरीबन 10 टीम पूरे मामले की जांच में जुटी है, जिसमे चार टीम बिभव की लोकेशन का पता लगा रही है।

मेनका गांधी ने कहा किसी भी महिला का साथ ऐसा नहीं होना चाहिए

इस बीच भाजपा सांसद मेनका गांधी ने भी इस मामले पर कहा है कि किसी भी औरत के साथ ऐसा नहीं होना चाहिए। इसे लेकर जीरो टॉलरेंस होना चाहिए। आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने सीएम आवास में उनके साथ मारपीट का आरोप लगाया है। उन्होंने ये आरोप केजरीवाल के करीबी विभव कुमार पर लगाए हैं। पार्टी के नेता संजय सिंह ने बाद में बताया था कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वाति मालीवाल के साथ हुई घटना को संज्ञान में लिया है और वो इस मामले में सख्त कार्रवाई करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed